34.1 C
New Delhi
May 20, 2022
Trending World

अफगानों की रोटी छीनता PAK:गेहूं-दवाइयों वाले ट्रकों को 2 महीने बाद भी काबुल जाने की मंजूरी नहीं; भारत ने कहा- मदद जारी रखेंगे

भारत ने 7 अक्टूबर को पाकिस्तान सरकार को एक मैसेज भेजा था। इसमें कहा गया था कि भारत सरकार अफगानिस्तान में भूख से परेशान लोगों को 50 हजार टन गेहूं और दवाइयां भेजना चाहती है। इसलिए पाकिस्तान इंसानियत के नाते मदद करे और वाघा बॉर्डर से भारत के ट्रकों को यह सामान लेकर अफगानिस्तान जाने दे। दो महीने से ज्यादा गुजरे, लेकिन इमरान सरकार ने इसकी मंजूरी नहीं दी। गुरुवार को भारत के विदेश मंत्रालय ने कहा- यह मुश्किल ऑपरेशन है। पाकिस्तान से बातचीत जारी है। सही वक्त पर जानकारी दी जाएगी।

भारतीय विदेश मंत्रालय ने क्या कहा
गुरुवार को विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने इस मामले पर कहा- हम अफगानिस्तान की मदद जारी रखेंगे। भारत सरकार इस मसले पर पाकिस्तान के संपर्क में है। हम जानते हैं कि यह मुश्किल ऑपरेशन है। आप लोगों को भी धैर्य रखना चाहिए। भारत ने पिछले हफ्ते अफगानिस्तान को एयर रूट के जरिए दवाइयां और लाइफ सेविंग इक्युपमेंट्स भेजे थे। रिटर्न फ्लाइट में 10 भारतीय और 94 अफगान नागरिक भारत आए थे। भारत ने 10 नवंबर को एक मीटिंग बुलाई थी। इसमें रूस, ईरान, कजाखिस्तान, किर्गिस्तान, ताजिकिस्तान और उज्बेकिस्तान के NSA शामिल हुए थे। इसी मीटिंग में अफगानिस्तान को गेहूं और दवाइयां भेजने का वादा किया गया था।

7 अक्टूबर को भेजे गए भारतीय विदेश मंत्रालय के लेटर का जवाब पाकिस्तान ने 24 नवंबर को दिया। इसमें फिजूल सी शर्तें रख दीं। उसका कहना है कि भारत के ट्रक वाघा बॉर्डर पर सामान उतारकर पाकिस्तान के ट्रकों में लोड कर दें। वहां से इन्हें पाकिस्तान के ट्रकों में लोड किया जाए। फिर ये ट्रक अफगानिस्तान पहुंचें।

दरअसल, पाकिस्तान एक तीर से दो शिकार करना चाहता है। पहला- पाकिस्तानी ट्रक जब सहायता सामग्री लेकर जाएंगे तो बीच में इस पर हाथ साफ किया जा सकता है, यानी चोरी किया जा सकता है। इन्हें अपने गोदामों में ट्रांसफर कर सकता है। दूसरा- ट्रकों पर पाकिस्तान का झंडा होगा। मतलब अफगानिस्तान की जनता ये समझे कि उन्हें भूख से बचाने के लिए पाकिस्तान गेहूं और दवाईयां भेज रहा है।

पाकिस्तान की शर्तों या मांगों को भारत सरकार बहुत बेहतर समझती है। यही वजह है कि भारत ने पहले ही साफ कर दिया कि अफगानिस्तान तक भारत के ही ट्रक जाएंगे। इन ट्रकों के साथ UN की टीम होगी।

Related posts

कोरोना की दूसरी लहर में पहली राजधानी जहां इतना लंबा लॉकडाउन, 9 से 19 अप्रैल तक सब बंद; छत्तीसगढ़ में रोजाना मिल रहे 6 हजार केस

Swarajya Bharat Team

कोरोना से कराह रहा भारत : दिल्ली-UP ही नहीं बल्कि इन राज्यों में भी लॉकडाउन और ‘सख्त पाबंदियां’, देखें पूरी लिस्ट

Umang Singh

AAP के पूर्व विधायक जरनैल सिंह का निधन, CM अरविंद केजरीवाल ने जताया शोक

Umang Singh

देश को जल्द मिलेगा एक और टीका ! भारत में जॉनसन एंड जॉनसन की वैक्सीन के उत्पादन पर विचार

Umang Singh

किसान आंदोलन के 11 महीने पूरे, आज 11 बजे से पूरे देश में विरोध-प्रदर्शन की घोषणा

Swarajya Bharat Team

दिल्‍ली के रामलीला मैदान में 500 ICU बेड का अस्‍थाई अस्पताल तैयार, शनिवार से होगा शुरू

Umang Singh

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Live Corona Update

Live updates on covid cases

AllEscort