24.1 C
New Delhi
November 27, 2021
National Trending

कोविशील्ड के बाद कोवैक्सीन की भी कीमत तय, जानें- राज्यों और निजी अस्पतालों के लिए कितने होंगे दाम

पहले कोविशाल्ड वैक्सीन की दामों की हुई थी घोषणा

कोविशील्ड की कीमत राज्य सरकारों के लिए 400 रुपये प्रति खुराक और निजी अस्पतालों के लिए 600 रुपये प्रति खुराक होगी। वहीं कोवैक्सीन की कीमत निजी अस्पतालों के लिए 1200 रुपये राज्यों के लिए 600 रुपये और केंद्र सरकार के लिए 150 रुपये तय की गई है।

नई दिल्ली, एएनआइ। सीरम इंस्टीट्यूट की कोविशील्ड के बाद भारत बायोटेक ने भी अपनी कोरोना की वैक्सीन ‘कोवैक्सीन’ के दाम तय कर दिए हैं। कंपनी ने शनिवार को कहा कि निजी अस्पतालों में कोवैक्सीन 1200 रुपये और राज्यों को 600 रुपये में दी जाएगी। वहीं, केंद्र सरकार के लिए वैक्सीन की कीमत 150 रुपये तय की गई है। इसके अलावा एक्सपोर्ट ड्यूटी की कीमत 15-20 डॉलर रखी गई है।

बता दें कि इससे पहले सीरम इंस्टीट्यूट ने अपनी वैक्सीन कोविशील्ड की कीमत का एलान किया था। कंपनी ने टीके की कीमत राज्य सरकारों के लिए 400 रुपये प्रति खुराक और निजी अस्पतालों के लिए 600 रुपये प्रति खुराक तय की है। 

कोविशील्ड की लागत को सीमित रखने को पहले ही रकम अदा की गई थी

सीरम इंस्टीट्यूट ने कोविशील्ड वैक्सीन की कीमत डे़ढ़ गुना तक बढ़ाने पर अपना बचाव किया है। सीरम ने दलील दी है कि पहले इसकी कीमत कम इसलिए थी क्योंकि इसकी लागत को सीमित रखने के लिए पहले ही रकम अदा की गई थी। लेकिन अब बड़े पैमाने पर इस इंजेक्शन के उत्पादन के लिए इसमें निवेश बढ़ाना पड़ रहा है और इसके उत्पादन पर अधिक खर्च आ रहा है।

पुणे में एस्ट्राजेनिका की वैक्सीन कोविशील्ड बनाने वाले सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआइआइ) ने इस हफ्ते की शुरुआत में ही घोषणा की थी कि इस वैक्सीन की हर डोज की कीमत 600 रुपये होगी। लेकिन राज्य सरकारों और केंद्र को नए करार के मुताबिक यह डोज 400 रुपये में बेची जाएगी। इस हिसाब से केंद्र सरकार को वैक्सीन की यह डोज पहले के मुकाबले 150 रुपये ज्यादा की पड़ेगी।

एसआइआइ ने कहा कि भारत में वैक्सीन की कीमत की वैश्विक कीमतों से तुलना करना गलत है। शुरुआती कीमतें इसलिए कम थीं क्योंकि भारत समेत सभी सरकारें इम्यूनिटी कार्यक्रम के लिए कम से कम कीमतें निर्धारित करती हैं। लेकिन अब वायरस का संक्रमण इतना विकराल रूप ले चुका है कि आम जनता लगातार खतरे में है। लोगों की जान बचाने के लिए इस वैश्विक महामारी से जोरशोर से मुकाबला करना है। एसआइआइ ने यह भी साफ कर दिया है कि वह कोविशील्ड की सीमित मात्रा ही निजी अस्पतालों को 600 रुपये में बेचेगा। उनका कहना है कि कोविशील्ड की कीमत अभी भी कई चिकित्सा पद्धतियों और आवश्यक सेवाओं से कम है।

Related posts

CU Psychosis की चपेट में कोरोना संक्रमित, कोई अपना नाम भूला तो कोई पहचान नहीं रहा परिवार

Umang Singh

AK-47 से एंटी एयरक्राफ्ट गन तक दर्रा अदमखेल में सब मिलेगा, हर देश के हथियार का डुप्लीकेट भी मिलता है

Umang Singh

नई गाइडलाइंस जारी : नाइट कर्फ्यू और लाकडाउन जैसे कदमों के बीच कंटेनमेंट जोन पर फोकस,

Umang Singh

अपोलो हॉस्पिटल, डॉ रेड्डीज ने स्पूतनिक-V के साथ वैक्सीनेशन शुरू करने का किया ऐलान

Umang Singh

भारत में कोविड-19 की तीसरी लहर: : एक और घातक लहर के लिए रहना होगा तैयार

Umang Singh

मोदी सरकार हो या कांग्रेस, नहीं ख़त्म हुआ इस क़ानून का मोह

admin

Leave a Comment

Live Corona Update

Live updates on covid cases