24.1 C
New Delhi
December 5, 2021
Trending

Coronavirus Peak in India: विज्ञानी समूह का अनुमान ,अगले हफ्ते आ सकता है कोरोना संक्रमण का पीक

छह हफ्ते में मौजूदा लहर का असर खत्म होने की संभावना

संक्रमण पर नजर रखने के लिए गठित विज्ञानियों के समूह के प्रमुख एम विद्यासागर के अनुसार- हमारा अनुमान संक्रमण का पीक अगले सप्ताह में आने का है। पहले इसी समूह ने पांच मई से दस मई के बीच पीक आने की बात कही थी।

नई दिल्ली, रायटर। कोरोना वायरस के प्रकोप से जूझ रहे देश के लिए अच्छी खबर है। सरकार के सलाहकार विज्ञानियों के समूह ने हालात के विश्लेषण के बाद आकलन किया है कि कोरोना संक्रमण का पीक (उच्चतम बिंदु) तीन से पांच मई के बीच आ सकता है। इसके बाद देश में कोरोना संक्रमण के मामले कम हो सकते हैं। यह अनुमान पूर्व के आकलन से एक सप्ताह पहले पीक आने का है। यह अनुमान कोरोना संक्रमण के मरीजों की तेजी से बढ़ रही तादाद के मद्देनजर है।

भारत में लगातार दस दिन से प्रतिदिन कोरोना संक्रमण के तीन लाख से ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं। शुक्रवार को यह संख्या बढ़कर 3.86 लाख को पार कर गई। इसके चलते जनता की मुश्किलें बढ़ी हैं। देश ऑक्सीजन, दवाओं और संसाधनों की किल्लत झेल रहा है। पूरी दुनिया से भारत को मदद भेजी जा रही है। संक्रमण पर नजर रखने के लिए गठित विज्ञानियों के समूह के प्रमुख एम विद्यासागर के अनुसार- हमारा अनुमान संक्रमण का पीक अगले सप्ताह में आने का है। पहले इसी समूह ने पांच मई से दस मई के बीच पीक आने की बात कही थी।

विद्यासागर ने कहा, हम कुछ अन्य अनुमानों को लेकर गंभीर नहीं हैं जिनमें संक्रमण का पीक जुलाई या अगस्त में आने की बात कही जा रही है। हमारा मानना है कि तब तक देश से संक्रमण की मौजूदा लहर खत्म हो जाएगी। लेकिन पहले की तरह बहुत कम मामले आते रहेंगे और स्थिति नियंत्रण में होगी।

विज्ञानी समूह के प्रमुख ने कहा, हमें इस लहर के असर से आने वाले चार-छह हफ्ते तक जूझना पड़ सकता है। इस दौरान बड़ी संख्या में मामले आते रहेंगे लेकिन हम अगर सावधानी बनाए रखते हैं तो दिनों-दिन उनकी तादाद कम होती जाएगी। इसलिए मुश्किल से निपटने को लेकर कोई लंबी रूपरेखा मत बनाइए, जो करना है बचाव के लिए अभी कीजिए, क्योंकि यह वह समय है जिसमें सबसे ज्यादा बचने के प्रयास करने हैं- खुद को सुरक्षित रखना है।

भारत में कोरोना संक्रमण की पहली लहर में सितंबर 2020 में एक दिन में अधिकतम 97,894 मामले सामने आए थे। जबकि मौजूदा लहर में दस दिनों से अधिकतम मामलों की संख्या इससे तीन गुना से ज्यादा बनी हुई है। इसलिए गणितीय अनुमान के अनुसार पीक अब ज्यादा दूर नहीं है। इस अनुमान को ठीक हो रहे मरीजों की बढ़ती संख्या भी बल दे रही है। इसलिए माना जाना चाहिए कि बेहतर समय ज्यादा दूर नहीं है।

Related posts

IPL 2021: पंजाब के सामने राजस्थान की चुनौती, जानें- क्या कहते हैं आंकड़े, कौन किसपर भारी

Umang Singh

कौन-सी वैक्सीन सबसे अच्छी- कोवीशील्ड, कोवैक्सिन या स्पुतनिक V? जानिए इनके बारे में सबकुछ

Umang Singh

IPL खेल रहे ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज ने दिया लाखों का दान ,भारत में ना हो ऑक्सीजन टैंक की कमी

Umang Singh

सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से 4 मुद्दों पर नेशनल प्लान मांगा है , आज सुनवाई होगी

Umang Singh

यूपी : ‘कोविड रिव्यू’ बैठकों से तंग आकर कई सरकारी डॉक्टरों ने दिया इस्तीफा, कहा- ‘बलि का बकरा बना रहे’

Umang Singh

विदेशी मीडिया ने भारत सरकार की आलोचना की तो विदेश मंत्री ने अपनी टीम को काम पर लगा दिया!

Umang Singh

Leave a Comment

Live Corona Update

Live updates on covid cases